नमस्कार, आईये जुडे मेरे इस ब्लांग से, आप अपनी बाल कहानियां, कविताय़ॆ,ओर अन्य समाग्री जो बच्चो से के लायक हो इस ब्लांग मे जोडॆ,आप अगर चाहे तो आप भी इस ब्लांग के मेम्बर बने ओर सीधे अपने विचार यहां रखे, मेम्बर बनने के लिये मुझे इस e mail पर मेल करे, ... rajbhatia007@gmail.com आप का सहयोग हमारे लिये बहुमुल्य है,आईये ओर मेरा हाथ बटाये.सभी इस ब्लांग से जुड सकते है, लेकिन आप की रचनाये सिर्फ़ सिर्फ़ हिन्दी मे हो, आप सब का धन्यवाद

मेरी नानी

प्रस्तुतकर्ता राज भाटिय़ा

मेरी नानी
मेरी नानी बडी सयानी
पर मेरे आगे भरती पानी

सब उससे यूँ डरते हैं
जब उसके तेवर चढते हैं

जब मेरे पास वो आती है
भीगी बिल्ली बन जाती है

मै उसको खूब नचाता हूँ
घोडी बना पीठ पर चढ जाता हूँ

सारे घर मे घुमा घुमा कर
खूब आनन्द उठाता हूँ

वो हाय तौबा मचाती है
लेकिन जब थक जाती है

फिर गोदी मे बिठा कर
प्यार वो मुझ को करती है

दुनिया भर की अच्छी बातें
फिर वो मुझ से करती है

उसके गुस्से को समझो यार
उसके गुस्से मे भी है प्यार


लेखक:- निर्मला कपिला जी(धन्यवाद सहित)

9 आप की राय:

©डा0अनिल चडड़ा(Dr.Anil Chadah) said...

अति सुंदर बाल-कविता

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत सुंदर कविता. आभार आपका.

रामराम.

Pakhi said...

मेरी नानी
मेरी नानी बडी सयानी
पर मेरे आगे भरती पानी
...ha..ha..ha..maja aa gaya padhkar.

अशोक पाण्डेय said...

बहुत सुंदर बाल कविता है। आपके किसी ठिकाने पर आकर जन्‍मदिन की बधाई देना चाहता था, लेकिन एयरटेल की सडि़यल जीपीआरएस सेवा की वजह से कल यह संभव नहीं हो सका।
जन्‍मदिन की ढेरों शुभकामनाएं। ईश्‍वर आपको सदा स्‍वस्‍थ व प्रसन्‍नचित्‍त रखें।

आशुतोष दुबे "सादिक" said...

बहुत सुंदर बाल कविता है.
"हिन्दीकुंज"

Murari Pareek said...

बहुत सुन्दर खुराक है बचों के लिए !!

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

वाह्! अति सुन्दर कविता......

kabeeraa said...

कपिला जी, तथा जनाब राज भाटिया ,
अवध-प्रवास एवं कबीरा पर आगमन एवं उत्साह वर्धन का आभारी हूँ | कबीरा के अनुसरण का कपिलाजी को विशेष आभार ,हम जैसों का उत्साह जब आप जैसे लोग बढाते तो ज्यादा आनंद आता है | आप लोगों के सभी ब्लॉग देखे संयुक्त ब्लॉग में नन्हे मुन्ने एक सुन्दर प्रयास है अगर अन्यथा न लें तो एक सलाह दूँगा अगर नन्हे-मुन्ने के ब्लॉग रोल से बड़ों से सम्बंधित लिंक को निकल दें और ढून्ढ-ढून्ढ कर नन्हे मुन्नों से ही जुड़े मनोरंजक ,ज्ञान वर्धक लिंक्स दें यह ज्यादा उपयोगी होजायेगा फिर भी आप की नन्ही-मुन्नी परिकल्पना बहुत ही पसंद आयी| इतिफाकन इस पर आया आप दोनों को इससे जुडा पाया अतः इसी पर आप दोनों का आभार प्रगट कर दिया है ,अलग से वीर -बहूटी ,पराया देश पर बाद में करूँगा ; संयुक्त संबोधन का एक कारण और है , ' बरस गयी रे बदरिया ' अवध प्रक्षेत्र { केंद्र जग प्रसिद्ध '' अयोध्या ''} की बोली अवधी की रचना है भोजपुरी की नहीं ,हाँ इसके पूरब पुरबिहा ,और उससे पूरब भोजपुरी आती है | आप सभी का हार्दिक आभार |

Hindi Choti said...


Hindi sexy Kahaniya - हिन्दी सेक्सी कहानीयां

Chudai Kahaniya - चुदाई कहानियां

Hindi hot kahaniya - हिन्दी गरम कहानियां

Mast Kahaniya - मस्त कहानियाँ

Hindi Sex story - हिन्दी सेक्स कहानीयां


Nude Lady's Hot Photo, Nude Boobs And Open Pussy

Sexy Actress, Model (Bollywood, Hollywood)

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये