नमस्कार, आईये जुडे मेरे इस ब्लांग से, आप अपनी बाल कहानियां, कविताय़ॆ,ओर अन्य समाग्री जो बच्चो से के लायक हो इस ब्लांग मे जोडॆ,आप अगर चाहे तो आप भी इस ब्लांग के मेम्बर बने ओर सीधे अपने विचार यहां रखे, मेम्बर बनने के लिये मुझे इस e mail पर मेल करे, ... rajbhatia007@gmail.com आप का सहयोग हमारे लिये बहुमुल्य है,आईये ओर मेरा हाथ बटाये.सभी इस ब्लांग से जुड सकते है, लेकिन आप की रचनाये सिर्फ़ सिर्फ़ हिन्दी मे हो, आप सब का धन्यवाद

मम्मी ने थी खीर बनाई

प्रस्तुतकर्ता राज भाटिय़ा

यह बाल कविता हमे अनिल सवेरा जी ने भेजी है, आप के पास भी कोई सुंदर सी बाल कविता तो तो हमे भेजे, कोई चित्र, या कुछ भी जो बच्चो से समबंधित हो हमे भेजे, हम उसे यहां प्रकाशित करेगे.


मम्मी जी ने थी खीर बनाई,
मुन्ना  ने जी भर कर खाई.


मुन्नी को दी बिलकुल थोडी,
निकली है उस मै भी रोडी.

मुन्नी लगी जोर से रोने,
मां को दिये ना कपडे धोने.

दी मां ने फ़िर भर कटोरी,
लगी मटकने पोरी पोरी

19 आप की राय:

Udan Tashtari said...

बढ़िया कविता.

संगीता पुरी said...

वाह .. सुंदर रचना !!

रंजन said...

mast..

माधव said...

भाटिया अंकल बहुत दिन के बाद आपने इस ब्लॉग पर कुछ पोस्ट किया है , हम रोज इन्तेजार करते थे , आज इन्तेजार खत्म हुआ

डा. हरदीप सँधू said...

बहुत ही सुंदर....

वाह....क्या बात है आप की....

Akshita (Pakhi) said...

स्वादिष्ट है यह खीर..यमी-यमी..सुन्दर बाल-कविता.
___________________________
'पाखी की दुनिया' में स्कूल आज से खुल गए...आप भी देखिये मेरा पहला दिन.

KK Yadava said...

बहुत प्यारी बाल कविता..बधाई.

Vivek Jain said...

वाह, वाकई शानदार
vivj2000.blogspot.com

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

बहुत सुन्दर पोस्ट!
--
आपकी चर्चा तो यहाँ भी है!
http://charchamanch.blogspot.com/2010/07/203.html

अनामिका की सदाये...... said...

बहुत सुंदर कविता.में जल्द ही कोई कविता भेजूंगी.

दीनदयाल शर्मा said...

बहुत ही सुन्दर ब्लॉग..और सुन्दर रचना..बधाई..

बाल-दुनिया said...

बेहतरीन बाल-कविता...बधाई.

_________________________
अब ''बाल-दुनिया'' पर भी बच्चों की बातें, बच्चों के बनाये चित्र और रचनाएँ, उनके ब्लॉगों की बातें , बाल-मन को सहेजती बड़ों की रचनाएँ और भी बहुत कुछ....आपकी भी रचनाओं का स्वागत है.

JHAROKHA said...

aapka ye blog bahut bahut achha laga. main bhi kuchh rachnaye bhejana chahti hun par pata naahi kyon aapka ye blog khulta hi nahi .shayad mujhse hi kuchh galti ho rahi hogi kripya mujhebataane ka kast karen.dhanyvaad sahit-----
poonam

अपनीवाणी said...

अब आपके बीच आ चूका है ब्लॉग जगत का नया अवतार www.apnivani.com
आप अपना एकाउंट बना कर अपने ब्लॉग, फोटो, विडियो, ऑडियो, टिप्पड़ी लोगो के बीच शेयर कर सकते हैं !
इसके साथ ही www.apnivani.com पहली हिंदी कम्युनिटी वेबसाइट है| जन्हा आपको प्रोफाइल बनाने की सारी सुविधाएँ मिलेंगी!

धनयवाद ...

डॉ. हरदीप संधु said...

वाह .. वाह ..
वाह ..
बहुत ही सुन्दर रचना..
प्यारी बाल कविता
बधाई..

सतीश सक्सेना said...

आपका यह नन्हों के लिए किया गया कार्य मुझे बहुत अच्छा लगता है भाई जी ! ऐसे बहुत कम लोग हैं जो इनका ध्यान भी रखते हों !हार्दिक शुभकामनायें !

रचना दीक्षित said...

बहुत प्यारी बाल कविता..बधाई.

rachanaravindra.blogspot.com

sunil patel said...

First time seen a beautiful poem for children on net. Presentation and picturisation is very nice.Thanks.

Hindi Choti said...


Hindi sexy Kahaniya - हिन्दी सेक्सी कहानीयां

Chudai Kahaniya - चुदाई कहानियां

Hindi hot kahaniya - हिन्दी गरम कहानियां

Mast Kahaniya - मस्त कहानियाँ

Hindi Sex story - हिन्दी सेक्स कहानीयां


Nude Lady's Hot Photo, Nude Boobs And Open Pussy

Sexy Actress, Model (Bollywood, Hollywood)

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये