नमस्कार, आईये जुडे मेरे इस ब्लांग से, आप अपनी बाल कहानियां, कविताय़ॆ,ओर अन्य समाग्री जो बच्चो से के लायक हो इस ब्लांग मे जोडॆ,आप अगर चाहे तो आप भी इस ब्लांग के मेम्बर बने ओर सीधे अपने विचार यहां रखे, मेम्बर बनने के लिये मुझे इस e mail पर मेल करे, ... rajbhatia007@gmail.com आप का सहयोग हमारे लिये बहुमुल्य है,आईये ओर मेरा हाथ बटाये.सभी इस ब्लांग से जुड सकते है, लेकिन आप की रचनाये सिर्फ़ सिर्फ़ हिन्दी मे हो, आप सब का धन्यवाद

पैसे

प्रस्तुतकर्ता राज भाटिय़ा

यह बाल कविता भी हमे अनिल सवेरा जी ने भेजी है

बंदर बाबु पेंट पहन कर
पहुंच गये ससुराल.

खा के मीठा पान उन्होने
होंठ कर लिये लाल

बंदरिया भी सम्रार्ट बन गई
पहन के लंहगा चोली

खाऊंगी मै रस मलाई
बंदर से वह बोली

रस मलाई खाते कैसे?
पास नही था पैसा


लोट के घर को आये ऎसे
बंधु गये थे जेसे

23 आप की राय:

Suman said...

nice

माधव said...

पहली बार इस ब्लॉग पर आया हूँ , बहुत अच्छा लगा ये ब्लॉग , हम बच्चों के बारे में ये कविता और अच्छी और प्यारी लगी , आपके ब्लॉग पर नियमित रूप से आना पडेगा
कविता में अगर बंदरियां को रस मलाई मिल जाती तो ही अच्छा था , बेचारी का दिल टूट गया होगा

http://madhavrai.blogspot.com/

रावेंद्रकुमार रवि said...

यहाँ आ जाओ, रसमलाई हम खिलाएँगे!

Darshan Lal Baweja said...

बहुत सुन्दर कविता बधाई डा. साब

रावेंद्रकुमार रवि said...

आकर्षक होने के कारण
इस पोस्ट को चर्चा मंच पर

"आज ख़ुशी का दिन फिर आया"

के रूप में सजाया गया है!

आदेश कुमार पंकज said...

बहुत सुंदर
मातृ दिवस के अवसर पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनायें और मेरी ओर से देश की सभी माताओं को सादर प्रणाम |

सुरेन्द्र Verma said...

bahut khub ! bhawnao ko isi tarah kabita mein likhte rahe.

अक्षिता (पाखी) said...

कित्ती प्यारी बाल-कविता ...मजा आ गया.

________________
पाखी की दुनिया में- 'जब अख़बार में हुई पाखी की चर्चा'

अक्षिता (पाखी) said...

कित्ती प्यारी बाल-कविता ...मजा आ गया.

________________
पाखी की दुनिया में- 'जब अख़बार में हुई पाखी की चर्चा'

Tej Pratap Singh said...

han Raj Sir...aap sahi kah rahe hain.
kafi din baad aaj aap mere blog par aaye..dhanyawaad...aap ki ye nahne munon ki duniya pasand aayi ..

सुमित प्रताप सिंह said...

majedar rachana...

डा. हरदीप सँधू said...

Bachon ke leeye ek sunder kavita.
Vah....

Hardeep

sm said...

beautiful poem

आचार्य जी said...

आईये जाने .... प्रतिभाएं ही ईश्वर हैं !

आचार्य जी

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

आपकी इस सुन्दर पोस्ट की चर्चा मैंने यहाँ भी की है!
--
http://mayankkhatima.blogspot.com/2010/06/1.html

JHAROKHA said...

बेहतरीन बाल गीत पढ़वाया आपने-----अनिल जी को हार्दिक बधाई।

डा.सुभाष राय said...

राज भाटिया जी, मुझे तो कादिर चोर है, यहां तक खींच लाया लेकिन यहां आकर लगा कि मैं बेह्तर जगह पर आया हूं. बच्चों के लिये अच्छी सामग्री है, आप के ब्लाग पर. धन्यवाद.

Akshita (Pakhi) said...

नई रचना कब आयेगी अंकल जी..इंतजार रहेगा.

_______________________
'पाखी की दुनिया' में 'कीचड़ फेंकने वाले ज्वालामुखी' जरुर देखें !

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

भाटिया अंकल जी!
अब तो दो महीने हो चले है!
--
नई पोस्ट भी तो लगाइए!

Voice Of The People said...

बच्चों के लिए खज़ाना है यहाँ.

JHAROKHA said...

lagata hai bandar ji ko sasuraal raas nahi aai tabhi to vo bairang wapas lout aaye.
bahut pyari kavita.
poonam

योगेन्द्र मौदगिल said...

wahwa...

Hindi Choti said...


Hindi sexy Kahaniya - हिन्दी सेक्सी कहानीयां

Chudai Kahaniya - चुदाई कहानियां

Hindi hot kahaniya - हिन्दी गरम कहानियां

Mast Kahaniya - मस्त कहानियाँ

Hindi Sex story - हिन्दी सेक्स कहानीयां


Nude Lady's Hot Photo, Nude Boobs And Open Pussy

Sexy Actress, Model (Bollywood, Hollywood)

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये